जोड़ों के दर्द का प्राकृतिक उपचार || how to stop joint pain naturally

जोड़ों के दर्द  का प्राकृतिक उपचार

दुनियाभर में हुए विभिन्न शोध से पता चलता है कि अदरक और तुलसी के Essential Oils  में सूजन-रोधी और दर्द निवारण  गुण होते हैं। जब यह तेल पतला करके और जोड़ों  पर लगाया जाता है  तो  Essentail Oil  गठिया के दर्द से राहत देने में बहुत कारगर सिद्ध हो सकते हैं। इस  बात से संकेत मिलता है कि हम अपने Arthritis व जोड़ों के दर्द  का प्राकृतिक उपचार कर सकते हैं। जरुरत केवल इस बात की है कि प्रयोग किये जाने वाले Essential  Oil  या Herbal Pain Oil शुद्ध हों। जो अपनी क्षमता  अनुसार पूरा काम  कर सकें। 

how to stop joint pain naturally ?
natural-oils-for-joint-health


किसी यूरोपियन  यूनिवर्सिटी के अध्ययन में निष्कर्ष निकला  कि युकलिप्टुस  का तेल Arthritis के दर्द और जकड़न  बहुत अधिक  प्रभावी  होता है ,  आर्थराइटिस  रोगी को इस तेल का बहुत पतला सा लेप अपने दुःख रहे जोड़ों पर लगाना है जिसके बाद धीरे धीरे यह तेल तवचा अंदर प्रवेश करके दर्द को बाहर कर देता है ,  यह तेल किसी भी पंसारी की दुकान पर आसानी से मिल जाता है। 


कुछ ऑर्गेनिक तेलों जैसे कि जोजोबा तेल, मेंहदी का तेल एवं पेपरमिंट ऑयल के साथ अन्य खनिज तेलों का मिश्रण जैसे कि  Fatser  Joint  Painआयल  आपके शरीर में मौजूद किसी भी दर्द और जकड़न को ख़त्म कर सकता है।  

how to stop joint pain naturally
faster-joint-pain-oil

महत्वपूर्ण दर्द निवारक Essential Oils  व Herbs 

वैसे मार्किट में बहुत सरे तेल  मौजूद हैं लेकिन कुछ वैज्ञानिक शोध तथ्य के अनुसार  कुछ Essential  Oil  तेल घुटने और जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं जो इस प्रकार हैं 

Essentail  Oils :-

  • लोबान और लोहबान
  • अजवायन 
  • अदरक
  • लैवेंडर
  • लेमनग्रास 
  • संतरा
  • रोजमैरी
  • पुदीना
यदि किसी जोड़ों  दर्द में अरंडी के तेल को  प्रभावित जोड़ों पर लगाएं और उसके बाद  कपड़े को लपेटें और क्षेत्र पर एक हीटिंग पैड या गर्म पानी की बोतल डालें  बहुत ज्यादा असर पड़ता है।  यह प्रकिर्या कम  से कम 45 मिनट के लिए करें। 

 इसके अलावा  कुछ और गुणकारी जड़ी बूटियां जैसे जड़ी बोसवेलिया, हल्दी, अश्वगंधा, अदरक, त्रिफला, गुग्गुलु और शतावरी को शरीर में Anti Inflammation  का काम हैं  जो कि शरीर में Inflammatary chemical के उत्पादन को  हैं शरीर में मौजूद दर्द और सूजन को काम करके पुन: स्फूर्ति प्रदान करते हैं।  ये सभी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां  Faster Joint Pain Oil में पहले ही शामिल हैं. 
how to stop joint pain naturally
faster-joint-pain-oil

जोड़ों के दर्द के लिए सबसे अच्छा प्राकृतिक Supplement  क्या हैं ? What is the best natural supplement for joint pain?

 दुनियाभर में ज्यादातर मामलों में गठिया, पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस  मुख्या दर्द के कारन मने जाते हैं आमतौर पर लोग इनके लिए painkillers जैसे Paracetamol, Ibuprofen, Diclofenac और Tramadol जैसे घातक nonsteroidal anti-inflammatory drugs का सेवन करते हैं। 
भारत में दर्जनों प्राकृतिक Supplement पूरक हैं जो जोड़ों के दर्द का इलाज करने क्षमता रखते हैंउनमे से कुछ  प्राकृतिक Supplement पूरक इस  प्रकार हैं। 

ग्लूकोसामिन 
ग्लूकोसामाइन Cartilage का एक प्राकृतिक source है। यह एक ऐसा प्राकृतिक तत्व है जो हड्डियों को एक दूसरे के खिलाफ रगड़ने से रोकता है , इसलिए दर्द और सूजन पैदा करने के कारण का निवारण करता है। यह गठिया के कारण Cartilage के टूटने को भी रोकता है। 

कॉन्ड्रॉइटिन
ग्लूकोसामिन सलफेट की भांति  chondroitin भी हड्डियों के टूटने की क्रिया को रोकता है तथा हड्डियों को मजबूत बनता है, हड्डिया मजबूत बनने के कारण उनमे दर्द भी  समाप्त हो जाता है। लम्बे समय तक लगातार सेवन करने से osteoarthritis के होने के आसार काम हो जाते हैं। 

हल्दी
ऑस्टियोआर्थराइटिस के कारण होने वाला जोड़ों का दर्द में हल्दी एक बहुत उपयोगी प्राकृतिक supplement है। हल्दी के गुण इतने ज्यादा हैं जिसका विवरण बहुत लम्बा हो सकता है।  हल्दी चाहे गर्म दूध के साथ ली जाये या किसी Faster Joint Pain Oil में मौजूद हो इसके प्रभाव निश्चित रूप से उल्लेखनीय हैं। 

बोसवेलिया।
भारतीय लोबान  से विख्यात बोसवेलिया गठिया आर्थराइटिस के दर्द में एक जाना  माना नाम है। बोसवेलिया का आमतौर पर गठिया के दर्द के लिए बनाये जाने वाले तेल और अन्य सभी आयुर्वेदिक दवाओं में किया जाता है  क्योंकि इसके प्राकृतिक तत्व गठिया के दर्द पर जड़  से वार करते हैं।  इसके अर्क में एक विशेष रसायन पाया जाता जिसमे Anti  Inflammatory  गुण होते है जिसको  बोसवेलिया एसिड कहा जाता है

मछली का तेल।
मछली के तेल में Omega-3 fatty acids docosahexaenoic एसिड और eicosapentaenoic एसिड पाया जाता है Omega-3 fatty acids में प्राकृतिक anti-inflammatory गुण होते हैं। 

सारांश 

भारत समेत दुनियाभर में करोड़ों लोग आज गठिया या आर्थराइटिस  के दर्द के कारण  अपने जीवन को कष्ट के साथ जीने को मजबूर हैं।  अकेले USA (अमेरिका ) में करीब कुल आबादी का 25 % लोग जोड़ों के दर्द से पीड़ित हैं।  इसके लिए तरह तरह के नुश्खे मौजूद हैं जो इस तरह के दर्द के निवारण का दवा करते हैं।  जैसे मौजूद Painkillers का उपयोग जो बाद में किडनी तथा अन्य Organ पर बुरा असर डालती हैं लेने को मजबूर हैं।  अगर हम थोड़ी सी मेहनत करें तो हमें जोड़ों के दर्द  का प्राकृतिक उपचार   के बहुत से प्राकृतिक तरीके मिल जायेंगे।  जिस से हम अपने आप को  खतरनाक Painkillers  के जाल से मुक्त कर सकें।  दीर्घकाल में painkillers का बहुत भयंकर नुकसान शरीर को उठाना पड़ता है।